SEO किया होता है SEO kya hota hai SEO कैसे करते है

में आपको इस आर्टिकल में SEO किया होता है और SEO कैसे करते है इसके बारे में सम्पूर्ण जानकारी देने वाला हूँ

अगर आप भी seo के बारे में डिटेल में जानना चाहते है तो ये आर्टिकल आपके लिए ही है मैंने इस आर्टिकल में seo के बारे में बिलकुल बैसिक से डिटेल में बताया है |

इस आर्टिकल को पढने के बाद आपको कहीं और जाने कि जरूरत नहीं पड़ेगी तो चलिए जानते है कि seo kya hota hai seo kaise karte hai.

SEO किया होता है SEO kiya hota hai

SEO का full form किया होता है

SEO का full form ‘Search Engine Optimization’ होता है |

SEO किया होता है

seo यानी ‘search engine optimization’ एक ऐसी तकनीक होती है जिसकी मदद से हम अपने ब्लॉग या वेबसाइट को किसी भी सर्च इंजन में टॉप पर लाते है

मतलब उसे सर्च इंजन के पहले पेज पर लाते है जिससे कि हमारी वेबसाइट या ब्लॉग पर ज्यादा से ज्यादा ट्रैफिक(लोग) आये और जितना ज्यादा ट्रैफिक हमारी वेबसाइट पर आएगा उतनी ही हमारी कमाई होगी |

बगैर seo के हमारी वेबसाइट कुछ भी नहीं है इसलिए हमारे ब्लॉग का seo कराना बहुत जरूरी है बहुत सारे नये ब्लॉगर जब ब्लॉग्गिंग शुरू करते करते है तो उनको seo कि जानकारी नहीं होती है |

जिसकी वजह से उसका ब्लॉग गूगल पर रैंक नही कर पाता है और उस पर ट्रैफिक नहीं आता है और अगर ट्रैफिक नहीं आयेगा तो उसका ब्लॉग आगे नहीं बढ़ पाता है

और उसको कमाई भी नहीं होती है जिसकी वजह से वो ब्लॉग्गिंग छोड़ देता है तो आपको seo करना सीखना होगा और धैर्य रखना होगा क्योंकि नये ब्लॉग को रैंक करना थोडा सा मुश्किल होता है |

यहाँ तक आपको पता चल गया होगा कि seo किया होता है अब हम आगे सीखेंगे कि seo कैसे करते है तो चलिए जानते है |

search engine किया होता है

जब हम किसी टॉपिक से रिलेटेड इन्टरनेट पर कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो उसके लिए हम google , yahoo और bing etc. का इस्तेमाल करते है |

ये सभी सर्च इंजन होते है इन सब में सबसे ज्यादा पोपुलर गूगल सर्च इंजन है जिसका सबसे ज्यादा लोग इस्तेमाल करते है जब हम गूगल पर कुछ सर्च करते है तो सबसे ऊपर हमें जो रिजल्ट दिखाई देता है वो गूगल का पहला पेज होता है |

और उस पर हमें जो वेबसाइट या ब्लॉग दिखाई देते है उनका seo बहुत strong होता है इसलिए वो गूगल के पहले पेज पर आते है और उन पर ट्रैफिक भी ज्यादा आता है |

seo(search engine optimization) कियूं जरूरी है ?

जब हम कोई ब्लॉग या वेबसाइट बनाते है तो हम उसे ज्यादा से ज्यादा लोगो तक पहुँचाना चाहते है क्योंकि जितना ज्यादा ट्रैफिक हमारे ब्लॉग या वेबसाइट पर आएगा उतना ही फायदा हमें होगा |

अगर हमारी वेबसाइट पर लोग ही नहीं आयेंगे तो उस वेबसाइट का किया फायदा होगा इसलिए हम अपने ब्लॉग को ज्यादा से ज्यादा लोगो तक पहुँचाने के लिए seo का इस्तेमाल करते है |

क्योंकि seo कि मदद से ही हम अपने ब्लॉग को किसी सर्च इंजन के पहले पेज में ला पाते है और लोग किसी भी सर्च इंजन के पहले पेज के रिजल्ट्स को ही देखना पसंद करते है
जिससे पहले पेज वाली वेबसाइट या ब्लॉग पर ज्यादा ट्रैफिक आता है इसलिए seo को समझना बहुत जरूरी है कि seo किया होता है और seo कैसे करते है |

और seo को सीखना इतना मुश्किल भी नहीं है अगर एक बार आप seo सीख जाते है तो इससे आप अपने ब्लॉग को बेहतर बना सकते है और ज्यादा से ज्यादा ट्रैफिक अपने ब्लॉग पर ला सकते है इसलिए seo करना बहुत जरूरी होता है |

SEO कैसे  काम करता है

इन्टरनेट पर लाखो करोडो वेबसाइट होती है लेकिन जब हम कोई टॉपिक सर्च इंजन पर टाइप कर सर्च करते है तो हमें वो ही रिजल्ट मिलता है जो हम देखना चाहते है ये पहले से ही सर्च इंजन में एक अल्गोरिथम सेट किया होता है जिससे इतनी सारी वेबसाइट में से वो ही रिजल्ट निकल कर आता है जो हम देखना चाहते है |

इसलिए वो वेबसाइट ही सर्च इंजन में टॉप पर आती है जिनमे seo सर्च इंजन के algorithm के हिसाब से किया होता है वैसे तो सभी सर्च इंजन कि काम करने के तकनीक अलग अलग होती है

लेकिन सभी सर्च इंजन तीन काम करते है

  • Crawling
  • Indexing
  • Ranking

Crawling : जब सर्च इंजन bots और spider आपके पेज को खोजकर उसे स्कैन करते है यही प्रोसेस Crawling कहलाती है |

Indexing : आपके पेज का कंटेंट और quality कैसी है इसी के आधार पर सर्च इंजन में index किया जाता है |

Ranking : किसी पेज का सर्च इंजन के मापदंडो के अनुसार सर्च इंजन के रिजल्ट्स में उस पेज की position को रैंकिंग कहा जाता है |

अब यहाँ तक आपको अच्छे से समझ आ गया होगा की seo किया होता है सर्च इंजन किया होता है और कैसे काम करता है अब हम आगे सीखेंगे कि seo कितने परकार का होता है और seo कैसे करते है |

SEO कितने परकार का होता है

  1. On page seo
  2. Off page seo
  3. Local seo

On page seo किया होता है

On page seo का काम आपके ब्लॉग या वेबसाइट को seo friendly बनाना होता है On पेज seo की मदद से हमें अपने ब्लॉग पर organic ट्रैफिक बढाने में मदद मिलती है

On पेज seo के बहुत सारे फैक्टर्स होते है जिनकी मदद से हम अपने ब्लॉग को seo friendly बनाते है जैसे :

  • Website structure
  • Website speed
  • Website design
  • Mobile friendly website
  • Title tag
  • Meta description
  • Keyword density
  • Image alt tag
  • url structure
  • internal links
  • Highlight important keywords
  • Google sitemap
  • Post good length
  • Use heading tag
  • Seo friendly url
  • Google analytics
  • HTML page size
  • Clear page cache
  • Website security https etc.

Read Also : ब्लॉग किया होता है ब्लॉग कैसे शुरू करे

keyword research करना

अगर आप ब्लॉग्गिंग कर रहे है तो keyword research करना बहुत जरूरी है क्योंकि अगर आप keyword research नहीं करोगे तो आप अपने ब्लॉग को कभी भी रैंक नहीं करा पाएंगे

अपनी पोस्ट में आपको उस keyword को टारगेट करना है जिस पर कम्पटीशन कम है अगर आप हाई सर्च वॉल्यूम वाले keyword को टारगेट करोगे तो उसको रैंक करा पाना थोडा सा मुश्किल हो जाता है

क्योंकि इस keyword पर कम्पटीशन बहुत ज्यादा है में आपको keyword research के लिए कुछ टूल्स बता रहा हूँ जिनकी मदद से आप keyword research कर सकते है 

इनकी मदद से आप किसी keyword पर ट्रैफिक और कम्पटीशन देख सकते है हालाँकि ये 100 परसेंट तो सही नहीं होते है लेकिन इनसे अंदाजा जरूर लगा सकते है

Content create करना

keyword research करने के बाद अब आपको उसके लिए अपना कंटेंट लिखना है किसी दुसरे का कॉपी नहीं करना है आपको अपने genuine कंटेंट लिखना है

और उतना ही लिखना है जितना कि आपकी ऑडियंस को जरूरत है बगैर बात उसमे वो चीजे नहीं डालनी है जिनकी लोगो को जरूरत नहीं है |

Title tag :

title tag हमारी पोस्ट के लिए बहुत जरूरी होता है हम जिस भी keyword पर अपनी पोस्ट को रैंक कराना चाहते है उस keyword का अच्छा सा title tag बनाये

जिससे देखते ही लोग उस पर क्लिक कर दे और आपका title tag 65 वर्ड्स से ज्यादा का नहीं होना चाहिए

post का url

पोस्ट का url जितना छोटा हो उतना ही अच्छा है और हमें पोस्ट के url में मुख्य keyword का इस्तेमाल जरूर करना चाहिए

keyword density

हमें अपनी पोस्ट में keyword को सही जगह पर इस्तेमाल करना चाहिए ताकि हमारा कंटेंट keyword optimized हो जाये बगैर बात हमें keyword का बार बार इस्तेमाल नहीं करना चाहिए

क्योंकि ऐसा करने पर गूगल हमारी पोस्ट की रैंकिंग को नीचे गिरा देता है हमारे keyword की density कभी भी 2.5% से ज्यादा नहीं होनी चाहिए |

इसका मतलब ये है की अगर आप 1000 वर्ड का पोस्ट लिख रहे है तो उसमे आप केवल 25 बार keyword का इस्तेमाल कर सकते है बल्कि इससे कम ही करना | आपको 1.5% से लेकर 2.5% तक keyword का इस्तेमाल करना चाहिए |

Heading

Headings का आपको अपनी पोस्ट में अच्छे से इस्तेमाल करना चाहिए आप अपनी पोस्ट के title को H1  heading में लिखे क्योंकि पोस्ट का title H1 में होता है और बाकी subheading को आप H2 H3 H4 etc. में लिख सकते है

website speed

आपकी वेबसाइट की speed बहुत अच्छी होनी चाहिए अगर आपकी वेबसाइट 4 – 5 सेकंड में नहीं खुलती है  तो यूजर आपकी वेबसाइट को छोड़कर दूसरी वेबसाइट पर चला जाता है 

इसलिए वेबसाइट कि स्पीड बहुत अच्छी होनी चाहिए वेबसाइट की स्पीड बढाने के लिए आपको इमेज का साइज़ कम रखना चाहिए plugins का कम इस्तेमाल करे और सिंपल और आकर्षक थीम का इस्तेमाल करे |

image optimization

इमेज को optimized बनाने के लिए आपको इमेज की साइज़ को कम से कम रखना चाहिए अगर आपकी इमेज साइज़ ज्यादा होगी तो ये पेज लोडिंग को बढ़ाएगा

अपनी पोस्ट में इमेज का इस्तेमाल करना ना भूले क्योंकि ये आपके ट्रैफिक को बढाने में मदद करती है और अपनी इमेज में alt tag लगाना ना भूले |

रिलेटेड विडियो

आज कल लोग पढने से ज्यादा विडियो देखना पसंद करते है इसलिए हो सके तो एक अच्छा सा विडियो बनाकर उसे अपनी पोस्ट में attach करे

जिससे लोगो को आपकी पोस्ट को समझने में आसानी हो जाये

Social media platforms

आप अपनी  पोस्ट को social media साइट्स जैसे : facebook instagram और twitter etc. पर शेयर कर सकते है

 जब भी कोई यूजर आपकी पोस्ट को पढने के लिए इन social साइट्स से आता है तो आपकी पोस्ट की रैंकिंग बढती है क्योंकि इन साइट्स की रैंकिंग बहुत अच्छी होती है |

website का navigation

आपकी वेबसाइट का navigation बहुत अच्छा होना चाहिए ताकि यूजर को एक पेज से दुसरे पेज पर जाने में आसानी हो और कोई भी सर्च इंजन आपकी वेबसाइट को आसानी से navigate कर सके |

Off page seo किया होता है

Off page seo की मदद से हम अपनी वेबसाइट या ब्लॉग को रैंक करा पाते है उस पर ट्रैफिक लाते है बाहरी सोर्स कि मदद से ,

Off page seo में हम अपनी वेबसाइट या ब्लॉग के अन्दर कोई परिवर्तन नहीं करते है बल्कि इसे हम बाहर promote करते है आप off page seo बहुत सारे तरीको से कर सकते है

में आपको कुछ तरीके बता रहा हूँ जिनकी मदद से आप अपनी वेबसाइट या ब्लॉग पोस्ट को रैंक करा सकते है उसपर ट्रैफिक बढ़ा सकते है चलिए जानते है …

Guest post

Guest post में आपको अपने ब्लॉग से रिलेटेड किसी दुसरे ब्लॉग पर पोस्ट लिखना होता है जिसे हम गेस्ट पोस्ट कहते है |

गेस्ट पोस्ट लिखने के बाद हम सही तरीके से do follow लिंक ले सकते है धयान रहे की वो एक अच्छी वेबसाइट हो जिस पर ट्रैफिक आता हो

जब आप उस पर पोस्ट लिखेंगे तो लोग आपकी वेबसाइट पर भी आयेंगे जिससे आपके ट्रैफिक बढेगा |

Question and answer site

आप किसी question and answer वाली site पर जाकर लोगो से question कर सकते है उनके question का answer दे सकते है और अपनी वेबसाइट का लिंक लगा सकते है

जिससे आपको ट्रैफिक मिलेगा आप ये सब ‘quora’ पर भी जाकर कर सकते है ये question and answer वाली site है |

pinterest

आप अपनी वेबसाइट या ब्लॉग पोस्ट कि इमेज को pinterest पर पोस्ट कर सकते है और यहाँ से भी आप अपना ट्रैफिक बढ़ा सकते है

Blog Comment

आप अपने ब्लॉग से रिलेटेड किसी अन्य ब्लॉग पर जाकर उस पर कमेंट कर सकते है और अपनी वेबसाइट का लिंक लगा सकते है और लिंक तभी लगाए जब वहाँ पर वेबसाइट लिखा आये और इस तरह भी आप अपना  ट्रैफिक बढ़ा सकते है

Backlinks

जब आपकी वेबसाइट या ब्लॉग पोस्ट का लिंक किसी दुसरे की वेबसाइट से जुड़ता है तो उसे backlink कहते है आप कई तरीके से backlinks बना सकते है  और आप इसके जरिये भी अपना ट्रैफिक बढ़ा सकते है |

Social media

आप अपनी वेबसाइट या ब्लॉग का पेज social media पर जरूर बनाए जैसे : facebook , instagram ,  twitter और linkedin etc. और यहाँ से भी आप ट्रैफिक पा सकते है |

search engine submission

आपको अपनी वेबसाइट या ब्लॉग को सारे search engines में सही तरीके से submit करना चाहिए |

Bookmarking

आपको अपनी वेबसाइट या ब्लॉग के pages और पोस्ट को अच्छी bookmarking वाली sites में submit करना चाहिए |

Local seo किया होता है

Local seo जैसा की इसके नाम से ही पता चल रहा है की इसमें लोकल एरिया को टारगेट किया जाता है रैंक कराने के लिए , इसलिए इसे लोकल seo कहा जाता है

वैसे तो हम अपनी वेबसाइट को पूरी दुनिया के लोगो के लिए टारगेट कर सकते है जब लेकिन लोकल seo हम तब करते है जब हम कोई ऐसा business या प्रोडक्ट सेल करते है

जिनकी कुछ सिमित क्षेत्र के लोगो को ही जरूरत होती है उन तक ये business या सर्विस पहुँचाने के लिए हम लोकल seo का यूज करते है

जिससे हमारा business targeted लोगो तक पहुँचता है और लोकल seo करने से आपको काफी फायदा मिलता है |

SERP किया होता है

SERP का full form ‘search engine result page’ होता है जब हम गूगल या किसी भी अन्य सर्च इंजन में कुछ टाइप कर सर्च करते है , हमें जो रिजल्ट्स की लिस्ट दिखाई देती है उसे ही हम SERP कहते है |

सर्च इंजन रिजल्ट पेज पर दो तरह कि लिस्टिंग होती है जो इस परकार है

  • Organic listing
  • Inorganic listing

Organic listing किया होती है

Organic listing बिलकुल फ्री होती है इसमें हमें गूगल को कोई पैसा नहीं देना पड़ता है हम बगैर पैसे दिए भी गूगल के टॉप पेज पर आ सकते है

परन्तु हमें टॉप पेज पर आने के लिए हमें बहुत अच्छे तरीके से seo करना पड़ता है और organic listing सबसे best होती है क्योंकि इससे हमें रेगुलर ट्रैफिक मिलता है |

Inorganic listing किया होती है

Inorganic listing के लिए हमें गूगल को पैसे देने पड़ते है तभी हम गूगल के रिजल्ट पेज पर आ सकते है

और ये रेगुलर नहीं रहता है यानी जब तक हम गूगल को पैसे देंगे तब तक ही रिजल्ट पेज पर रह सकते है |

Conclusion : seo किया होता है seo कैसे करते है

मैंने आपको इस आर्टिकल में seo के बारे में बिलकुल बेसिक से समझाने की कोशिश की है कि seo किया होता है और seo कैसे करते है

फिर भी आपको seo से रिलेटेड कोई भी समस्या हो तो आप हमसे नीचे कमेंट बॉक्स में पूँछ सकते है

अगर आपको हमारा आर्टिकल seo kya hota hai seo kaise karte hai पसंद आया है तो आप इसे उन लोगो के साथ शेयर कर सकते है जो seo के बारे में जानना चाहते है |

 Read Also : ब्लॉग किया होता है ब्लॉग कैसे शुरू करे

            

 

 

Leave a Comment